बेटा होने के 4 लक्षण | गर्भ में बेटा होने के लक्षण बताइए 2024

बेटा होने के 4 लक्षण बताइए : एक महिला के लिए उसके जीवन में सबसे खुशी का पल होता है जब उसे पता चलता है की वह मां बनने वाली है और एक नन्ही सी जान को इस दुनिया में जन्म देने वाली है। लेकिन एक मां बनने की उत्सुकता में उसके मन में कभी न कभी यह सवाल आता है कि वह बेटे को जन्म देने वाली है या बेटी को। हालांकि कोई भी मां अपने बच्चों में फर्क नही करती है लेकिन उसके मन में जिज्ञासा जरूर रहती है।

यदि मां के मन में यह सवाल नहीं आता है तो परिवारजन में जरूर इस बात को लेकर कभी न कभी चर्चा जरूर होती है की उनके घर में बेटा होगा या बेटी होगी। लेकिन आपकी जानकारी और सुरक्षा के लिए आपको बताना चाहेंगे की भारत देश में अजन्मे बच्चे के लिंग का पता लगाना यानी की प्रसव पूर्व लिंग प्रभेद करना गैर कानूनी अपराध है। इसलिए किसी भी अस्पताल में जाकर जन्म से पूर्व बच्चे के लिंग के विषय में कोई भी जानकारी प्राप्त करने की कोशिश न करें।

लेकिन कुछ पुराने और घरेलू तरीके जिनके इस्तेमाल के द्वारा यह पता लगाया जा सकता है की एक गर्भवती महिला के गर्भ के अंदर लड़का है या लड़की है। इन तरीकों का इस्तेमाल अक्सर पुराने समय में दाई करती थी। दाई यानी वह महिला जो किसी गर्भवती महिला की डिलीवरी करवाती है। अतः उन्हीं तरीकों के बारे में यहां इस लेख में बताया गया है।

गर्भ में बेटा होने के 4 लक्षण बताइए | बेटा होने के लक्षण 

यहां नीचे आपको एक महिला के गर्भ में बेटा होने के 4 लक्षणों के बारे में बताया गया है जिनके आधार पर काफी हद तक यह अनुमान लगाया जा सकता है की महिला के गर्भ में लड़का है।

1. महिला की त्वचा में परिवर्तन

यह शुरुआती लक्षण है जिसके आधार पर अजन्मे बच्चे का लिंग पता लगाया जाता है। महिला की डिलीवरी करने वाली दाइयाँ अजन्मे बच्चे के लिंग का पता लगाने के लिए महिला की त्वचा को देखती है। ऐसा माना जाता है की गर्भवती महिला की त्वचा अगर रूखी सूखी है तो गर्भ में लड़का है।

अगर त्वचा रूखी सूखी न होने की बजाए तैलीय होती है तो कहा जा सकता है की महिला के गर्भ में लड़की है। साथ ही अगर गर्भवती महिला को अधिक कील मुहांसे होते है तो भी यह संकेत देता है की गर्भ में लड़की है। क्योंकि अक्सर त्वचा तैलीय होती है तो कील मुहांसे होने की संभावना अधिक होती है।

2. चेहरे की चमक

वही दूसरा लक्षण यह है की अगर गर्भवती महिला के चेहरे पर गर्भावस्था के दौरान चमक देखने को मिलती है तो उसके गर्भ में लड़का होता है। गर्भावस्था के दौरान महिला के चेहरे पर आने वाली इस चमक को प्रेगनेंसी ग्लो कहते है। अतः पुराने वक्त में दाई गर्भवती महिला के चमकते हुए चेहरे को देखकर बता देती थी की गर्भ में लड़का है।

3. घने बाल

इसके साथ अजन्मे बच्चे के लिंग का पता लगाने के लिए बालों की बनावट को भी आम परीक्षण माना जाता है। ऐसा कहा जाता है की अगर गर्भवती महिला के बाल गर्भावस्था के दौरान घने होते है तो गर्भ में जरूर लड़का हैं। वही अगर महिला के बाल पतले हो या बाल अधिक झड़ने लगे तो अनुमान लगाया जाता है की गर्भ में लड़की है यानी की वह महिला बेटी को जन्म देने वाली है।

4. पैर का आकार और तापमान

गर्भवती महिला के पैरों के आकार में होने वाले बदलाव का संबंध अजन्मे शिशु के लिंग से होता है। अगर गर्भवती महिला के पैर का आकार गर्भावस्था के दौरान लगभग दोगुना हो जाए तो यह माना जाता है की महिला को पुत्र प्राप्ति होगी। लेकिन अगर ऐसा कुछ नहीं होता है तो कहा जाता है कि बेटी जन्म लेने वाली है।

इसके अलावा अगर गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला के पैर बाकी दिनों की तुलना में ज्यादा ठंडे रहते हैं तो आप समझ जाएं कि बेटे का जन्म होने वाला है। वही दूसरी तरफ, पैरों के तापमान में अगर कोई भी परिवर्तन यानी की बदलाव देखने को नहीं मिलता है तो इसका अर्थ है की हो सकता है कि बेटी होने वाली है। 

5. सिर दर्द 

प्रेगनेंसी के दौरान अगर गर्भवती महिला यह शिकायत करती है की उसके सिर में दर्द रहता है तो इसका अर्थ है की महिला को लड़का होने वाला है। इसके साथ अगर गर्भवती स्त्री दाहिनी करवट लेकर ज्यादा सोती है तो उसे पुत्र होने वाला है जबकि बायीं करवट लेकर अधिक सोने का अर्थ है की उसे पुत्री होने वाली है। 

कृपया ध्यान :– ऊपर बताए हुए लक्षणों के आधार पर पूर्ण रूप से यह पता नही लगाया जा सकता है की गर्भवती महिला के गर्भ में लड़का है या लड़की क्योंकि विज्ञान भी इन लक्षणों के सही होने पर अपनी सहमति नहीं देता है।

प्रेगनेंसी के दौरान बेटा होने के लक्षण – अन्य लक्षण

ऊपर लिखित लक्षणों के अलावा आपको कुछ अन्य लक्षणों के बारे में यहां नीचे बताया गया है।

  • यदि गर्भ में बेटा होगा तो उसके हृदय की गति 1 मिनट में 140 बीट से ज्यादा होगी।
  • आपके पेट का आकार यदि गोल है या ऊपर की तरफ है तो बेटा होने की संभावना है।
  • गर्भावस्था की पहली तिमाही में मॉर्निंग सिकनेस होना और चेहरे का मुरझाना।
  • यदि गर्भावस्था में आपका मन अधिक मीठा खाने का मन करे तो बेटा हो सकता है।
  • अगर आपका बायां स्तन दायें स्तन से बड़ा है तो आपको बेटा होगा।
  • इसके साथ गर्भावस्था के दौरान अगर आपके पैरों का तापमान गर्म रहता है तो बेटा जन्म लेने वाला है।
  • सामान्य दिनों की तुलना में अगर आपका अधिक मूड स्विंग होने लग जाए।
  • दाईं ओर अधिक करवट लेकर सोना। 


बेटा होने के 4 लक्षण बताइए – निष्कर्ष

गर्भ में बेटा होने के 4 लक्षण बताइए या बेटा होने के 4 लक्षण के विषय में आपको आज के इस लेख में जानकारी दी गई है। उम्मीद करते है की आपको प्रेगनेंसी में बेटा होने के लक्षण (Pregnancy Mein Beta Hone Ke Lakshan) के संबंध में लिखा गया यह लेख जरूर पसंद आया होगा। यदि यह लेख पसंद आए तो इसे अन्य गर्भवती महिलाओं के साथ शेयर जरूर करें।

3 thoughts on “बेटा होने के 4 लक्षण | गर्भ में बेटा होने के लक्षण बताइए 2024”

Leave a Comment