2024 में आईएएस बनने के नुकसान | IAS Banne Ke Nuksan

आईएएस बनने के नुकसान : यदि आप इस लेख को इस समय पड़ रहे हो तो इसका अर्थ है की आप भी यह जानना चाहते को की एक आईएएस बनने के नुकसान क्या क्या है? अगर वाकई में आप IAS Banne Ke Nuksan के विषय में जानकारी पाना चाहते हो तो आप बिलकुल सही लेख को पढ़ने आए हो। हम ऐसा इसलिए कह रहे है क्योंकि आपको आज विस्तार से इसी बारे में हमारे द्वारा जानकारी दी जाएगी।

अधिकतर लोगों को यह तो मालूम होता है कि आईएएस बनने के फायदे क्या क्या है लेकिन लोग इस बात से बिलकुल भी रूबरू नहीं होते है की IAS बनने के नुकसान भी होते है। वैसे भी अगर किसी चीज से फायदे होते है तो उसके कुछ नुकसान भी होते है। ऐसे में जरूरी है की अगर आप भविष्य में IAS Officer बनना चाहते हो या फिर बनने का विचार है तो आपको यह लेख एक बार जरूर पढ़ना चाहिए।

IAS क्या है | IAS का Full Form 

IAS का Full Form होता है Indian Administration Services जिसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते है। एक IAS अधिकारी का चयन UPSC की परीक्षा में पास होकर प्राप्त होने वाले रैंक के आधार पर किया जाता है। UPSC भारत और विश्व की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। कुछ वर्ष तक IAS के रूप में अपनी सेवाएं देने के बाद आप कलेक्टर भी बन सकते हो। 

आईएएस बनने के नुकसान | IAS Banne Ke Nuksan 2024 में

आईएएस बनने के नुकसान

एक IAS Officer बनने के जो कुछ भी नुकसान होते है उनके बारे में आपको नीचे हमारे द्वारा जानकारी दी गई।

  • कम वेतन (Low Payout)
  • कठिन परिश्रम (Hard Work)
  • बार बार स्थानान्तरण (Transfers)
  • गोपनीयता की कमी (No Privacy)
  • धमकियाँ और राजनीतिक हस्तक्षेप (Threats and Political Interference)
  • सिफारिश और भ्रष्टाचार (Recommendation and Corruption)
  • बड़ी जिम्मेदारियां (Huge Responsibilities)
  • नेताओं और काम का दबाव (Leaders or Work Pressure)

यहां ऊपर तो आपको केवल IAS Banne Ke Nuksan के विषय में कुछ महत्वर्ण बिंदुओं की जानकारी दी गई है लेकिन आगे आपको विस्तार से इसके बारे में बताया गया है की कैसे यह सारी चीजे IAS बनने के नुकसान के रूप में सामने आती है।

1. बार बार स्थानान्तरण

अक्सर देखा जाता है की उच्च पद पर नौकरी करने वाले अधिकारियों को उनके कार्यकाल के दौरान बार बार अलग अलग स्थानों पर स्थानांतरित किया जाता है। ठीक इसी से एक IAS Officer का भी बार बार स्थानान्तरण किया जाता है जिसके चलते उसके काम और उसके पारिवारिक जीवन पर इसका काफी ज्यादा असर पड़ता है।

आईएएस अधिकारी को बार बार अपने बीवी और बच्चों के साथ एक साथ से दूसरे स्थान पर जाना पड़ता है। इन सबका प्रभाव व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है। अतः आईएएस बनने के नुकसान में यह समस्या सबसे ऊपर आती है। बार बार आईएएस अधिकारी के स्थानांतरण के पीछे कई सारे कारण हो सकते हैं जैसे की राजनीतिक दबाव आदि।

2. कम वेतन 

हालांकि IAS बनने में काफी ज्यादा कठिन परिश्रम की जरूरत होती है क्योंकि UPSC की परीक्षा को पास करना अनिवार्य होता है। तभी जाकर एक व्यक्ति IAS, IPS और IFS के उच्च पद को हासिल कर सकता है। लेकिन इस नौकरी का एक और नुकसान यह है की इतने उच्च पद पर होने के बावजूद भी IAS आधिकारिक का वेतन बहुत ही कम होता है।

सालों की कठिन परिश्रम के बाद IAS Officer बनने के बाद भी एक IAS की शुरुआती आय 56,100 प्रतिमाह होती है जो बढ़कर अधिक से अधिक 2,50,000 तक हो जाती है। लेकिन फिर भी इतनी मेहनत के बाद भी यह वेतन बहुत ही कम है। इससे कही ज्यादा वेतन तो कॉरपोरेट कंपनियों में काम करने वाले लोगों को मिलती है।

3. गोपनीयता की कमी 

एक आईएएस बनने का यह भी नुकसान है की आप एक सरकारी अधिकारी बन जाते हो जिसके चलते आपके पास गोपनीयता की कमी होती है। कहने का अर्थ है की आपके ऊपर सरकारी हस्तक्षेप होता है जिस वजह से आपकी सारी गतिविधियों के ऊपर पूरी नजर रखी जाती है। अपने कार्य से संबंधित आप कोई भी निर्णय खुद नही ले सकते हो।

4. धमकियाँ और राजनीतिक हस्तक्षेप

यह तो आपको पता ही होगा कि एक IAS का पद काफी ऊंचा पद माना जाता है जिसके चलते उसके पास काफी सारे अधिकार होते है। साथ ही कई सारे महत्वपूर्ण निर्णय भी IAS अधिकारी द्वारा लिए जाते है। लेकिन परेशानी का मुख्य कारण यह है की यहां पर एक IAS Officer अधिकारी को कई सारी धमकियाँ और राजनीतिक हस्तक्षेप का सामना करना पड़ता है।

IAS अधिकारी के पास पूरे जिले के प्रशासन को नियंत्रित करने का अधिकार तो होता है लेकिन अधिकतर मामलों में उसे बड़े बड़े राज नेताओं के इशारों पर चलना पड़ता है। और यदि वह ऐसा नहीं करता तो कई सारे धमकियां दी जाती है। यहां तक उसके परिवार को भी नुकसान पहुंचाने की धमकियां भी दी जाती हैं। अतः आप सोच सकते हो की एक आईपीएस अधिकारी के जीवन में यह भी हो सकता है।

5. कड़ा संघर्ष

यह तो आपको पता है की UPSC की परीक्षा पास करना हर किसी के बस की बात नहीं है लेकिन जो लोग पूरी लगन और मेहनत से प्रयास करते है वही लोग इसमें सफल हो पाते है। पर सच तो यह है की UPSC की परीक्षा पास करके IAS बनना बहुत ही कठिन कार्य है। काफी सारे लोगों को लगता है की IAS बनने के बाद मौज ही होगी। 

लेकिन ऐसा नही है। जितनी मेहनत IAS बनने में लगती है उससे ज्यादा कड़ा संघर्ष बाद में करना पड़ता है। आईएएस अधिकारी को कई सारे निर्णय लेने पड़ते है, अलग अलग मीटिंग में भाग लेना पड़ता है, पूरे जिले के प्रशासन की जिम्मेदारी उसके कंधों पर होती है। अतः ऐसा बिल्कुल भी न सोचे की आईएएस बन जाने के बाद आपको आराम मिलेगा।

6. नेताओं और काम का दबाव

कहने को तो आईपीएस अधिकारी बनना बड़े ही गर्व की बात है लेकिन बड़े पद के साथ बड़ी जिम्मेदारियां भी आती है। अतः आईपीएस अधिकारी बनने का एक नुकसान यह भी है की काम का बोझ काफी ज्यादा बढ़ जाता है। हालांकि की शारीरिक रूप से तो काम नही बढ़ता है लेकिन मानसिक रूप से बहुत तनाव होता है।

इसके साथ IAS होने की वजह से पूरा जीवन बड़े बड़े नेताओं के साथ गुजरता है जिसकी वजह से एक आईएएस अधिकारी के ऊपर राजनीतिक दबाव भी बना रहता है। IAS तो बन जाते है और कई सारे अधिकार भी मिल जाते है। लेकिन वास्तव में उनका प्रयोग करने के लिए परमिशन लेनी पड़ती है।

अतः आप अब अच्छे से समझ चुके होंगे की एक आईएएस बनने के नुकसान आखिर क्या क्या है? उम्मीद है की अपलिखित चीजें आपको अच्छे से समझ में आ गई होंगी।

IAS Banne Ke Nuksan – FAQs

  • Q.1 क्या आईएएस बनना बहुत कठिन है?

    Ans :– जी बिलकुल, आईएएस बनने के लिए आपको UPSC की परीक्षा को पास करना पड़ता है। आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे की UPSC भारत के साथ पूरे विश्वभर की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है जिसे पास करने के लिए दिन रात मेहनत करनी पड़ती हैं। परीक्षा को पास कर लेने के बाद उम्मीदवार को कड़ी ट्रेनिंग से गुजरना पड़ता है जिसके बाद वह IAS के पद को हासिल करने में सफल हो पाता है।

  • Q.2 IAS की 1 महीने की सैलरी कितनी होती है?

    Ans :– एक IAS आधिकारिक की 1 महीने की सैलरी 56,100 रुपए से 2.50 लाख रुपए तक होती है।

  • Q.3 क्या आईएएस बनने के लिए अंग्रेजी आना जरूरी है?

    Ans :– एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए जरूरी नहीं है की आपको जबरदस्त इंग्लिश आनी चाहिए। आपको बस सामान्य स्तर तक इंग्लिश भाषा का ज्ञान होना ताकि आप अपनी बात अंग्रेजी में किसी के सामने रख सके और सामने वाली की बात को समझ सके।

  • Q.4 एक आईएएस अधिकारी का जीवन दर्दनाक क्यों होता है?

    Ans :– क्योंकि एक आईएएस अधिकारी को अपने पूरे जीवन में कार्यकाल के दौरान कठोर कार्यक्रम, चुनौतियाँ और कठिनाइयों को सामना करना पड़ता है।



आईएएस बनने के नुकसान – निष्कर्ष

हम आप सभी से यही उम्मीद करते है की इस लेख को अंत तक पढ़ने के बाद आपको आईएएस बनने के नुकसान (IAS Banne Ke Nuksan) क्या क्या होते हैं इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। आपको हमने सरल शब्दों में इसके बारे में जानकारी दी है। इसी के साथ आज के इस लेख में बस इतना ही। जल्द मिलेंगे एक और नए आर्टिकल के साथ।

2 thoughts on “2024 में आईएएस बनने के नुकसान | IAS Banne Ke Nuksan”

Leave a Comment