2024 में नीट करने के फायदे | Neet Karne Ke Fayde

नीट करने के फायदे : अगर आप भी भविष्य में एक डॉक्टर बनना चाहते हो इसके लिए आपको 12वी कक्षा में मेडिकल विषय का चयन करते हुए Neet की परीक्षा देनी पड़ती है जिसके आधार आप आगे आपको अच्छे कॉलेज में दाखिला मिलता है MBBS और BDS जैसे कोर्स करने के लिए। लेकिन Neet की परीक्षा देने से पहले आपको यह जरूर जानना चाहिए कि आखिर 2024 में नीट करने के फायदे क्या क्या है?

अगर आपको भी इस बारे में कोई जानकारी नही है तथा आप भी जानना चाहते हो की Neet Karne Ke Fayde क्या है तो आज का यह लेख आपके लिए काफी ज्यादा लाभदायक हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि आज आपको विस्तार से हमारे द्वारा नीट करने के फायदे कौन कौन है 2024 में इसके बारे में बताया जायेगा। आइए फिर इसके बारे में विस्तार से इस लेख में जानकारी प्राप्त करते है।

Contents hide

नीट करने के फायदे | Neet Karne Ke Fayde

नीट करने के फायदे

हमने यहां नीचे आप सभी को विस्तार से बताया है की नीट करने के फायदे क्या क्या है?

  • नीट की परीक्षा पास करने के बाद आप एक अच्छे डॉक्टर बन सकते हो।
  • 12वी कक्षा के बाद आप सीधे तौर पर Neet की परीक्षा में भाग ले सकते हो।
  • किसी भी विषय के विद्यार्थी नीट की परीक्षा दे सकते है।
  • नीट की परीक्षा पास करने के बाद आप देश विदेश में MBBS और BDS जैसे कोर्स कर सकते हो।
  • नीट पास करने के बाद आप किसी भी मेडिकल कोर्स को कर सकते हो।
  • नीट पास करने पर आपका भविष्य एक तरह से सुरक्षित हो जाता है और आपको अच्छी नौकरी मिल सकती है।

नीट क्या है | What is Neet in Hindi

NTA यानी की National Testing Agency द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किया जाने वाला Neet एक Entrance Exam है जिसको पास करने के बाद एक विद्यार्थी मेडिकल क्षेत्र में उच्चस्तरीय शिक्षा ग्रहण कर सकता है तथा किसी अच्छे से मेडिकल कॉलेज में दाखिला प्राप्त करके MBBS और BDS जैसे मेडिकल कोर्स की पढ़ाई करके किसी विशेष मेडिकल क्षेत्र में डॉक्टर बन सकता है।

वर्ष 2016 में पहली बार नीट की परीक्षा का आयोजन किया था। पहले इस परीक्षा को AIPMT (All India Pre Medical Test) के नाम से जाना जाता था लेकिन बाद में AIPMT से बदलकर इसका नाम NEET रख दिया गया। यदि आप भी भविष्य में डॉक्टर बनना चाहते हो इसके लिए आपको NEET की परीक्षा को पास करना होगा तभी जाकर आपको एक अच्छे से मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिल पाएगा।

NEET का Full Form क्या है

National Eligibility Cum Entrance Test ही नीट (NEET) का फुल फॉर्म है जिसे हिंदी भाषा में राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा के नाम से जाना जाता है। भारत में राष्ट्रीय स्तर पर NTA द्वारा NEET की परीक्षा का आयोजन किया जाता है। डॉक्टर बनने के उद्देश्य से विद्यार्थी नीट की परीक्षा में हिस्सा लेते है।

Neet का कोर्स कितने साल का होता है

Neet का कोर्स 0 वर्ष का होता यानी की हमारे कहने का अर्थ है की Neet कोई कोर्स नही है बल्कि यह एक Entrance Exam है। यदि कोई विद्यार्थी मेडिकल क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहता है तथा MBBS और BDS जैसे कोर्स को पूरा करके डॉक्टर बनना चाहता है तो उसके लिए नीट की परीक्षा पास करना अनिवार्य है। Neet की परीक्षा पास करने पर एक विद्यार्थी एक अच्छे मेडिकल कॉलेज में दाखिला प्राप्त कर सकता है।

नीट एग्जाम कितनी बार दे सकते है

एक विद्यार्थी 1 साल में केवल एक ही बार Neet की परीक्षा दे सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि हर हाल मई महीने में ही एक बार नीट की परीक्षा का आयोजन किया जाता है। लेकिन अच्छी बात यह है की जब तक कोई विद्यार्थी Neet की परीक्षा में पास न हो जाए तब तक वह नीट की परीक्षा में भाग ले सकता है।

बीएससी नर्सिंग करने के लिए नीट जरूरी है क्या

जी नहीं, यदि आप BSC नर्सिंग की डिग्री हासिल करना चाहते हो तो नीट जरूरी नहीं है क्योंकि BSC नर्सिंग एक कोर्स है जिसे आप सीधे तौर पर किसी नर्सिंग कॉलेज में दाखिला लेकर पूरा कर सकते हो। लेकिन अगर आप MBBS और BDS जैसी डिग्री हासिल करना चाहते हो और डॉक्टर बनना चाहते हो तो Neet पास करना आपके लिए जरूरी है।

नीट की परीक्षा के लिए आवश्यक योग्यता (Eligibility) 

यदि आप नीट की परीक्षा देना चाहते हो तो आपके पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए।

  • 12वी कक्षा में सभी विषयों को मिलाकर आपके कुल 50 प्रतिशत या इससे अधिक अंक होने चाहिए।
  • 12वी कक्षा में यदि आप साइंस स्ट्रीम लेकर Physics, Chemistry, Biology जैसे विषयों में अच्छे अंक से पास होते हो तो आप नीट परीक्षा के लिए खुद को अच्छे से तैयार कर सकते हो।
  • अगर आप अपनी पढ़ाई अंग्रेजी मीडियम में करोगे तो आपको नीट की परीक्षा देने में आसानी होगी।

नीट के लिए आयु सीमा क्या है (Age Limit)

अगर आप नीट की परीक्षा में भाग लेना चाहते हो आपकी न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष होनी चाहिए। लेकिन अधिकतम आयु की कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है जिसका अर्थ है की आप जब तक Neet की परीक्षा पास नही कर लेते हो तो तब तक आप Neet की परीक्षा में भाग ले सकते हो।

Neet Karne Ke Fayde – FAQs

  • Q.1 Neet Exam कितनी बार दे सकते है?

    Ans :– 1 साल में केवल एक बार ही नीट की परीक्षा में भाग लिया जा सकता है क्योंकि हर साल मई महीने में ही एक बार नीट की परीक्षा आयोजित की जाती है।

  • Q.2 नीट का कोर्स कितने साल का होता है?

    Ans :– नीट कोई कोर्स नही है बल्कि यह एक एंट्रेंस एग्जाम है जिसको पास करके एक अच्छे मेडिकल कॉलेज में दाखिला पाया जा सकता है।

  • Q.3 बीएससी नर्सिंग के लिए नीट जरूरी है क्या

    Ans :– नही, यदि आप बीएससी नर्सिंग करना चाहते हो तो इसके लिए नीट की परीक्षा देना जरूरी नहीं है।

  • Q.4 नीट के लिए 12वीं में कितने परसेंट चाहिए?

    Ans :– नीट की परीक्षा देने के लिए 12वी कक्षा में आपके कम से कम 50 फीसदी अंक होने चाहिए।

  • Q.5 NEET का पेपर कितनी बार दे सकते हैं?

    Ans :– जब तक आप पास न हो जाओ तब तक आप Neet का पेपर दे सकते हो। लेकिन 1 साल में केवल 1 बार ही यह एग्जाम आयोजित होता है।

  • Q.6 क्या मैं 25 साल की उम्र में नीट दे सकता हूं?

    Ans :– जी हां, आप 25 वर्ष की आयु में भी नीट की परीक्षा दे सकते हो।

  • Q.7 नीट का पेपर हिंदी में आता है क्या?

    Ans :– Neet की परीक्षा कुल 11 भाषाओं में आयोजित होती है जिनमे , हिंदी, मराठी, ओडिया, तमिल, मराठी, उर्दू, बंगाली, तेलुगु , कन्नड़ और असमिया भाषाएं शामिल है।



नीट करने के फायदे 2023 – निष्कर्ष 

आज हमारे द्वारा आप सभी को विस्तार से नीट करने के फायदे (Neet Karne Ke Fayde) क्या है इसके बारे में सरल शब्दों में बताया गया है। यदि आपने आखिर तक इस लेख को पढ़ा होगा तो आपको जरूर अच्छे से सारी चीजें समझ में आ चुकी होंगी। इसी के साथ आज के इस लेख में बस इतना ही। उम्मीद करते है की यह लेख आपको पसंद आया होगा और पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें।